महिला सिपाही को लेकर फरार हुआ दारोगा, SP के आदेश के बाद थानेदार की बढ़ी टेंशन…

एसपी के आदेश के 20 दिन बाद भी पुलिस पुलिस के हाथ खाली....

0 5,019

प्रदेश में एक दारोगा महिला सिपाही के साथ फरार हो गया. वहीं मामले की जानकारी होते ही जिले के एसपी ने एक बड़ा आदेश दिया है. कप्तान के अब बाद थानेदार का टेंशन बढ़ गई हैं.

ये भी पढ़ें..अपराधी को पकड़ने गए थानेदार की बदमाशों ने पीट-पीटकर की हत्या…

मिली जानकारी के मुताबिक घटना बिहार के बेगूसराय जिले के खोदावंदपुर थाना क्षेत्र की है, जहां एक दारोगा महिला सिपाही के साथ फरार हो गया है. वहीं एसपी ने थानेदार को फरार दारोगा और महिला सिपाही को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है.

20 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली

बताया जा रहा है कि 20 दिन बीत जाने के बाद भी बेगूसराय पुलिस उसे खोज नहीं सकी है. फरार होने का कारण यह है कि खोदावंदपुर थाना क्षेत्र के मेघौल गांव निवासी संगीता हत्याकांड में आरोपित तत्कालीन मंझौल ओपीध्यक्ष और वर्तमान में बलिया थाना में पदस्थापित एसआइ राजकुमार सिंह और उसकी पत्नी बिहार पुलिस के जवान हेनु कुमारी को गिरफ्तार करने का आदेश पुलिस अधीक्षक बेगूसराय ने अनुसंधानकर्ता को दिया है.

एसपी कार्यालय से गिरफ्तारी आदेश जारी होने की सूचना मिलते ही दोनों आरोपी फरार बताये जा रहे हैं। जिसकी खोज में पुलिस की छापेमारी जारी है। लेकिन 20 दिने बाद भी पुलिस के हाथ खाली है, जबकि लोगों में चर्चा है कि कुछ पुलिस पदाधिकारी जानबूझकर बचा रहे हैं।

दारोगा पर हत्या का मामला दर्ज

गौरतलब है कि 16 अगस्त 2019 को मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के हनुमानगढ़ी के समीप एक खेत से लावारिस हालत में पुलिस ने एक अज्ञात महिला का शव बरामद किया था। जिसकी पहचान खोदावंदपुर थाना के मेघौल गांंव निवासी अभिषेक कुमार की पत्नी संगीता के रुप में हुई थी।

Related News
1 of 1,374

इस मामले में मृतका के पिता ने पति-ससुर, ननद हेनु कुमारी और ननदोई तत्कालीन मंझौल ओपीध्यक्ष राजकुमार सिंह के विरुद्ध हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कराया था। जिसमें पुलिस में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मृतका के पति अभिषेक एवं ससुर राम सुखित सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया थाा।

जबकि आरोपी तत्कालीन मंझौल ओपीध्यक्ष राजकुमार सिंह का स्थानांतरण बलिया थाना में एसआई के पद पर कर दिया था। पुलिस जांच एवं वरीय पुलिस पदाधिकारी के पर्यवेक्षण में आरोपी एसआई राजकुमार सिंह, उसकी पत्नी हेनु कुमारी और मृतका की सास रामकुमारी देवी को क्लीन चीट देकर पति एवं ससुर को दोषी सिद्ध किया था।

एसपी ने दिया गिरफ्तारी का आदेश…

उधर दोनो पुलिसकर्मियों को क्लीन चीट दिये जाने से मृतका के पिता बलभद्र सिंह ने पुलिस पदाधिकारी पर आरोपी के पक्ष में काम करने और जांच में धांधली करते हुए निष्पक्ष जांच नहीं करने का आरोप लगाते हुए न्याय के लिये एडीजी और डीजी मुख्यालय से गुहार लगाया।

इसके बाद वरीय पदाधिकारियों ने जांचोपरांत राजकुमार सिंह, हेनु कुमारी और रामकुमारी देवी के विरुद्ध आरोप सत्य पाया और 19 मार्च को ही पुलिस अधीक्षक ने गिरफ्तार करने का आदेश दिया है।

ये भी पढ़ें..भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर चला कमिश्नर का डंडा, थाना प्रभारी समेत सिपाही सस्पेंड…

ये भी पढ़ें..15 साल की छात्रा ने स्‍कूल के बाथरूम में 25 लड़को के साथ किया सेक्स, वायरल वीडियो से हुआ खुलासा…

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर