25 सितंबर से 46 दिनों के लिए फिर होगा देशव्यापी लॉकडाउन ! जानिए पूरा सच..

सरकार ने देश में फिर से लॉकडाउन लगने वाली खबरों का किया खंडन

0 16,094

देश में तेजी से बढ़ से कोरोना वायरस के मामलों के बीच दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार एक बार फिर पूरे देश में लॉकडाउन लगाने जा रही है। इस दावे के साथ नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (एनडीएमए) का एक सर्कुलर भी शेयर किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें..तेजप्रताप के बयान ने ली रघुवंश बाबू की जान! बिहार में सियासत गरमाई

वायरल हो रहे सर्कुलर में लिखी ये बाते…

वायरल हो रहे सर्कुलर में लिखा है- ‘देश में कोरोना वायरस के मामलों को फैलने से रोकने और मृत्युदर को कम करने के लिए, योजना आयोग के साथ एनडीएमए भारत सरकार से आग्रह करता है और पीएमओ व गृह मंत्रालय को निर्देश देता है कि 25 सितंबर की आधी रात से 46 दिनों को देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया जाए। हालांकि इस दौरान सभी आवश्यक सेवाएं पहले की तरह चलती रहेंगी।’ यह सर्कुलर 10 सितंबर का है।

क्या है पूरा सच- जरुर पढ़ें…

A stamp with the word Fake on an order purportedly issued by National Disaster Management Authority. The order claims that NDMA has directed the government to re-impose a nationwide Lockdown from 25th September

Related News
1 of 1,192

दरअसल सरकार ने देश में फिर से लॉकडाउन लगने वाली खबरों का खंडन किया है। प्रेस इंफोर्मेशन ब्यूरो (PIB) द्वारा किए गए फैक्ट चेक में इस खबर को फर्जी बताया गया है। पीआईबी फैक्ट चेक के ट्विटर हैंडल से लिखा गया है- ‘यह लेटर फेक है। एनडीएमए ने फिर से लॉकडाउन लागू करने के लिए कोई ऑर्डर नहीं जारी किया है।’फिलहाल देश लॉकडाउन करने की सरकार की ओर कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। सोशल मीडिया पर झूठी अफवाह फैलाई जा रही है।

मार्च के अंत में हुआ था देशव्यापी लॉकडाउन

गौरतलब है कि भारत में मार्च के अंत में देशव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था। इसके बाद जून से कई फेज में लॉकडाउन को फिर से खोला गया। हालांकि, स्कूल-कॉलेज अभी भी बंद हैं, जबकि मार्च महीने से बंद मेट्रो को एक हफ्ते पहले चलाने की हरी झंडी दी गई थी।

ये भी पढ़ें..बड़ा झटका, IAS से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों तक, वेतन में होगी कटौती!

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |