कानपुर शूटआउट में सस्पेंड तीन दरोगाओं को 15 दिन में ही मिली नई तैनाती

विकास दुबे के खजांची जय बाजपेई के घर पर रहने वाले तीनों को क्लीन चिट भी मिली

0 1,350

यूपी के कानपुर में हुए शूटआउट कांड में हर रोज नए-ऩए खुलासे होते रहते हैं। अभी हाल ही में एक और चौकाने वाला खुलासा हुआ है। दरअसल विकास दुबे के खजांची जय बाजपेई के घर में तीन दारोगा अवैध रूप से रह रहे हैं। जिसके बाद आईजी मोहित अग्रवाल ने तीनों को सस्पेंड कर दिया था।

इस बात को एक महीना भी नहीं बीता कि अब तीनों को बहाल कर दिया गया। इतना ही नहीं हैरान करने वाली बात यह कि तीनों को क्लीन चिट भी मिल गई है।

ये भी पढ़ें…डिप्टी SP की मेहनत लाई रंग, 2500 से अधिक लोगों ने छोड़ा काला कारोबार

सामने आया निलंबन और बहाली का खेल

बात सिर्फ यहीं खत्म नहीं होती, इसी मामले में मुख्यमंत्री पोर्टल आईजीआरएस पर झूठी रिपोर्ट देने के आरोप में लाइन हाजिर किए गए एसआई की भी बहाली हो गई है। इस मामले के खुलने के बाद एक बार फिर एक माह के अंदर ही निलंबन और बहाली के इस खेल ने गैंगस्टर, दरोगा और पुलिस अफसरों की साठगांठ का पर्दाफाश कर दिया है।

गोरखपुर किडनैप केस, 13 साल के अगवा बच्चे की हत्या, एक करोड़ मांगी थी फिरौती  - divya himachal

Related News
1 of 593
खजांची गैंगस्टर जय बाजपेई के मकान में रहते थे तीनों

बता दें कि विकास दुबे के खजांची गैंगस्टर जय बाजपेई के मकान में अवैध रूप से रह रहे तीन दरोगाओं को (कर्नलगंज में तैनात उप निरीक्षक राजकुमार, अनवरगंज में तैनात उप निरीक्षक उस्मान और रायपुरवा में तैनात उप निरीक्षक खालिद रहते मिले) 20 अगस्त को आईजी के निर्देश पर सस्पेंड किया गया था।

आईजी मोहित अग्रवाल ने किया था सस्पेंड

गौरतलब है कि जय बाजपेयी की गिरफ्तारी के बाद भी तीन दरोगा उसके घर पर डेरा जमाया गए थे। जिसके चलते आईजी ने जय बाजपेयी के ब्रह्मनगर स्थित मकान नंबर 111-481 में छापा मारने के निर्देश दिए। जांच के दौरान इसी के चलते आईजी के आदेश पर तीनों को सस्पेंड कर दिया गया।

ये भी पढ़ें..बड़ा झटका, IAS से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों तक, वेतन में होगी कटौती!

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर