डिप्टी SP की मेहनत लाई रंग, 2500 से अधिक लोगों ने छोड़ा काला कारोबार

0 102

उत्तर प्रदेश पुलिस हमेशा सुर्खियों में रहती है, चाहे हो अच्छे कार्यों को लेकर हो या फिर अपने बुरे कामों के लिए। पुलिस द्वारा एक ऐसी ही अच्छी खबर बदायूं जिले से सामने आ रही है।

ये भी पढ़ें..CM योगी का बड़ा ऐलान, कहा हम बनाएंगे देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी

दरअसल जिले के एक गांव में कच्ची शराब बनाने की कई फैक्ट्री लगी थी, लेकिन अब वहां के लोगों ने इस काले कारोबार से किनारा कर लिया है। ये सब हुआ है पुलिसकर्मियों की मेहनत की वजह से। इसके लिए सीओ उझानी अनिरुद्ध सिंह समेत पुलिस अफसर कई महीने से प्रयासरत थे। इसी का नतीजा है कि गांव पहुंची पुलिस को ग्रामीणों ने खुद न सिर्फ कच्ची शराब छिपाने के अड्डे दिखाये बल्कि शराब समेत उसे बनाने के उपकरण भी बरामद करा दिए।

पुलिस की मेहनत लाई रंग…

बता दें कि बदायूं जिले के धनूपुरा गांव में अब अवैध शराब का धंधा बंद होने की शुरुआत हो गई है। गांव का कोई व्यक्ति न शराब बनाना चाहता है और न बेचना। इसकी वजह पुलिस है। पुलिस ने गांव के लोगों को शराब का धंधा छोड़ने को समझाया तो उन्होंने अपनी भट्ठियां तोड़ दीं।

सीओ उझानी अनिरुद्ध सिंह के निर्देशन गठित टीम ने शाम के समय गांव के हर घर जाकर लोगों को अवैध शराब का धंधा बंद करने को कहा। टीम ने घर घर जाकर लोगों को समझाया कि वह रात के अंधेरे में अपने-अपने घर से शराब बनाने के बर्तन और उपकरण सड़क पर रख दें।

Related News
1 of 484

दुसरे सुबह लोग सोकर उठे तो गांव की सड़कों पर बर्तन ही बर्तन दिखाई दिए। दोपहर तक गांव के बच्चे बर्तन एकत्र करते रहे। उनका एक ढेर लग गया। अधिकारियों ने वादा किया है कि किसी पर कोई कार्रवाई नहीं होगी। पुलिस की पहल से ग्रामीणों को पुलिस की यह बात भी समझ में आई कि अवैध धंधा छोड़ने पर उन्हें रोजगार मुहैया कराया जाएगा।

2500 लोगों ने छोड़ा काला कारोबार

वहीं जब वहीं के लोगों से बात की गई तो ये खुलासा हुआ कि रोजगार ना मिलने से ये लोग कच्ची शराब बनाने को मजबूर हैं। जिसके बाद खुद एसपी सिटी और सीओ उझानी इन गांवों में पहुंचे और लोगों को समझाते हुए रोजगार दिलाने समेत विधवाओं, बुजुर्गों और दिव्यांगों को पेंशन दिलाने का आश्वासन दिया। युवाओं को बैंक से ऋण दिलाकर नये उद्योग स्थापित कर उद्यमी बनाने के सपने भी दिखाये। नतीजतन गांव में सक्रिय तकरीबन 2,500 से अधिक लोगों ने अब कच्ची के काले कारोबार से किनारा कर लिया।

ये भी पढ़ें..बड़ा झटका, IAS से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों तक, वेतन में होगी कटौती!

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर