VIDEO: अकेले ही 7 असलहाधारी डकैतों पर भारी पड़ा ये पुलिसवाला, 4 करोड़ की डकैती की योजना को किया विफल

149

VIDEO: पश्चिम बंगाल के रानीगंज में पिछले हफ़्ते 7 लुटेरों का एक गिरोह एक आभूषण की दुकान को लूटने आया था। लेकिन उन्हें नहीं पता था कि वहां एक बहादुर पुलिस अधिकारी मौजूद है। पुलिस अधिकारी ने अकेले ही सातों लुटेरों का मुकाबला किया और 4 करोड़ रुपये लूटने की कोशिश को नाकाम कर दिया। दुकान के बाहर लगे CCTV में पुलिसकर्मी और लुटेरों के बीच फायरिंग की घटना कैद हो गई है।

फुटेज में सब-इंस्पेक्टर मेघनाद मंडल को बिजली के खंभे के पीछे से लुटेरों का बहादुरी से सामना करते देखा जा सकता है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर फायरिंग की कहानी का जिक्र किया है। पुलिस ने बताया कि लूट का आधा हिस्सा छोड़कर भागने से पहले कम से कम 20 राउंड फायरिंग की गई। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी की तलाश जारी है।

हथियारों से लैस थे बदमाश

रिपोर्ट के मुताबिक, घटना रविवार दोपहर की है। पिस्तौल, मशीनगन और राइफल से लैस सात नकाबपोश लुटेरे एक आभूषण की दुकान में घुसे। लुटेरों को देखकर दुकान मालिक और वहां मौजूद ग्राहक डर गए। कुछ ही मिनटों में लुटेरे 4 करोड़ रुपये से ज़्यादा के आभूषण लूटकर फरार हो गए। पुलिस चौकी के प्रभारी मंडल किसी काम से पास में ही मौजूद थे। वे सिविल वर्दी में थे, लेकिन उनके पास उनकी सर्विस रिवॉल्वर थी। पुलिस अधिकारी ने दुकान के पास कुछ संदिग्ध गतिविधियां देखीं। लोगों के चेहरों पर डर साफ झलक रहा था। इससे उन्हें संदेह हुआ कि कुछ गड़बड़ है।

पुलिस अधिकारी ने बहादुरी के साथ किया लुटेरों का सामना

पुलिस अधिकारी मंडल ने दुकान के बगल में एक बिजली के खंभे के पीछे पोजीशन ली और अपनी रिवॉल्वर तान ही रहे थे कि दुकान के बाहर नजर रख रहे एक लुटेरे ने उन्हें देख लिया। इसके बाद लुटेरे ने दुकान के अंदर मौजूद अपने साथी लुटेरों को सतर्क कर दिया और फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई। अगले 30 सेकंड तक पुलिस अधिकारी ने बहादुरी से लुटेरों की फायरिंग का सामना किया। पुलिस अधिकारी ने खंभे के पीछे पोजीशन ली और लुटेरों पर फायरिंग शुरू कर दी। उनकी एक गोली से एक लुटेरा घायल हो गया और वह जमीन पर गिर गया। इसके बाद दूसरे लुटेरों ने भी फायरिंग शुरू कर दी। मंडल डटे रहे और निडरता से लुटेरों की फायरिंग का जवाब देते रहे। उन्होंने बहादुरी से डरकर लुटेरों ने वहां से भागने का फैसला किया।

Related News
1 of 780

इसके बाद लुटेरे अपने घायल साथी को बाइक पर लेकर वहां से 1।8 करोड़ रुपये के जेवरात लेकर भाग गए। जल्दबाजी में वे अपनी एक बाइक, करीब 2।5 करोड़ रुपये के जेवरात, दो बैग और 42 राउंड गोलियां वहीं छोड़ गए। लेकिन पुलिस अधिकारी हार मानने के मूड में नहीं थे। उन्होंने भाग रहे लुटेरों का पीछा किया। लुटेरे लगातार फायरिंग करते रहे। जब अधिकारी को लगा कि वह बाइक सवार लुटेरों को नहीं पकड़ पाएंगे तो उन्होंने आसपास के पुलिसकर्मियों को सूचना दी। पड़ोसी राज्य झारखंड को भी अलर्ट भेजा गया। इस बीच लुटेरों ने एक कार चालक पर फायरिंग कर दी और कार समेत लोगों को अगवा कर लिया।

हर तरफ हो रही है अधिकारी की तारीफ

फायरिंग में चालक और एक राहगीर घायल हो गए। इस बीच झारखंड पुलिस हरकत में आ गई। पुलिस ने कार जब्त कर ली और एक आरोपी सूरज सिंह को हिरासत में ले लिया। आगे की जांच में पुलिस को सोनू सिंह नाम का वही लुटेरा मिला जो पुलिस अधिकारी की फायरिंग में घायल हुआ था। उसे सोमवार को बिहार के सीवान से गिरफ्तार किया गया।

बंगाल पुलिस ने बताया कि उन्होंने दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताछ कर रही है। बाकी लोगों को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस ने लूटा गया माल भी बरामद होने का भरोसा जताया है। पुलिस अधिकारी मंडल की बहादुरी की कहानी हर किसी की जुबान पर है। जब लोग उनसे कहानी बताने के लिए कहते हैं तो वे मुस्कुराते हुए जवाब देते हैं, “मैंने तो बस अपना कर्तव्य निभाया।”

ये भी पढ़ेंः- फिर सुलग उठा नंदीग्राम ! चुनाव से पहले TMC-BJP वर्कर भिड़े, महिला कार्यकर्ता की मौत के बाद बढ़ा तनाव

ये भी पढ़ें: IPL 2024: दिल्ली कैपिटल्स को तगड़ा झटका, ऋषभ पंत पर लगा इतने मैचों का प्रतिबंध, जानें वजह

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...