पुलिस हेडक्वार्टर के इस तुगलकी फरमान से UP पुलिस में हड़कंप

29 साल की नौकरी के बाद कांस्टेबल से हेड कांस्टेबल बने थे अब फिर कॉन्स्टेबल बन गए, पुलिसकर्मियो में आक्रोश...

0 949

पुलिस (Police) प्रशासन से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है। बड़े पैमाने पर पीएसी और सिविल पुलिस के कॉन्स्टेबल डिमोट किए गए हैं। 890 हेड कॉन्स्टेबल डिमोट होकर कॉन्स्टेबल बनाए गए हैं। सालों की नौकरी के बाद अब पुलिस अफसरों को होश आया पीएसी से सिविल पुलिस (Police) में कैडर ट्रांसफर किया।

ये भी पढ़ें..यूपी में 13 IPS अफसरों का तबादला, 8 जिलों के कप्तान बदलें, देखें लिस्ट…

890 हेड कांस्टेबल डिमोट कर बने कांस्टेबल 

दरअसल एडीजी स्थापना ने 918 पुलिसकर्मियों के डिमोट कर पीएसी में वापसी का आदेश जारी किया है। इनमें से 890 हेड कांस्टेबल की पीएसी में कांस्टेबल पद पर वापसी होगी।

भर्ती

बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस में सिविल पुलिस और पीएसी का अलग कैडर है। हर कैडर के लिए प्रमोशन की अलग नियमावली हैै। सालों पहले पीएसी से सिविल पुलिस (Police) में आए कांस्टेबल से बने हेड कॉन्स्टेबल और सब इंस्पेक्टर नियुक्ति के मूल कैडर पीएसी में नहीं हुआ प्रमोशन तो वापसी के बाद सभी पुलिस कर्मी डिमोट किए गए।

Related News
1 of 566
पुलिसकर्मियों में भारी नाराजगी

पुलिस स्थापना विभाग के तुगलकी फरमान से 890 हेड कांस्टेबल कॉन्स्टेबल बने जबकि 6 सब इंस्पेक्टर हेड कांस्टेबल बनाए गए और 22 कॉन्स्टेबल वापस पीएसी भेजे गए। पुलिस हेडक्वार्टर के इस तुगलकी फरमान से उत्तर प्रदेश पुलिस में हड़कंप है।

transfers

वहीं प्रमोशन के सालों बाद डिमोशन और पीएसी में वापसी से पुलिसकर्मियों में भारी नाराजगी है। 29 साल की नौकरी के बाद कांस्टेबल से हेड कांस्टेबल बने थे अब फिर कॉन्स्टेबल बन गए।

ये भी पढ़ें..सुहागरात के दिन घूंघट उठाते ही उड़े पति के होश

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर