योगी सरकार में अब तक 14 IPS अधिकारी हो चुके है निलंबित, ये रही बड़ी वजह…

निलंबित अफसरों को लंबे समय से नहीं मिली तैनाती

0 98

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार करप्‍शन के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति को अपनाते हुए बड़ा एक्शन ले रही है. यही कारण है कि अपने साढ़े 3 साल के कार्यकाल में सिपाही से लेकर कई IAS व IPS अफसरों को निलंबित कर चुकी है. मार्च 2017 में यूपी की सत्ता संभालने वाली योगी सरकार करप्‍शन व अपने कार्य में लापरवाही बरतने वाले अफसरों के खिलाफ जमकर एक्शन लिया है.

ये भी पढ़ें..आज से शुरू होगा IPL-13 का घमासान, एक क्लिक पर देखिए संपूर्ण कार्यक्रम

यही वजह है कि बड़ी गलती पाये जाने पर तत्काल निलंबन की कार्रवाई की जाती है. न्यूज 18 में छपी खबर के मुताबिक, योगी सरकार ने अपने साढ़े 3 साल के कार्यकाल 6 IAS, जबकि 14 IPS अफसरों को निलंबति किया जा चुका है.

IPS

लंबे समय न मिल सकी तैनाती

1. जसवीर सिंह – 1992 बैच के इस सीनियर IPS को सरकार ने पिछले साल निलंबित कर दिया था. सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने के कारण इनपर कार्रवाई की गयी थी. निलम्बन के समय जसवीर सिंह ADG के पद पर तैनात थे. निलम्बन अभी तक वापस नहीं हो सका है.
2. दिनेश चन्द्र दुबे – 2003 बैच के IPS दुबे DIG रैंक के हैं. पशुपालन घोटाले में नाम आने पर निलंबन. अभी तक तैनाती नहीं मिली है.

3. अरविंद सेन – 2003 बैच के इस IPS को भी पशुपालन घोटाले में नाम आने पर सरकार ने निलंबित कर दिया था. DIG रैंक के ये अफसर तैनाती के लिए अभी भी तरस रहे हैं.

4. वैभव कृष्णा – नोएडा के एसएसपी रहते इन्हें सस्पेंड किया गया था. एक महिला के साथ आपत्तिजनक वीडियो में पकड़े गये थे. 2010 बैच के वैभव को अभी तक तैनाती नहीं मिली है.

IPS

5. अपर्णा गुप्ता – 2015 बैच की इस IPS को सरकार ने तब निलंबित कर दिया था जब कानपुर के संजीत यादव अपहरण कांड में इनका नाम सामने आया था. सस्पेंशन अभी भी जारी.

6. अभिषेक दीक्षित – 2006 के इस IPS को SSP प्रयागराज रहते निलंबित किया गया था. कानून व्यवस्था न संभाल पाने के कारण इनपर गाज गिरी थी. अभी तक तैनाती का इंतजार. तमिलनाडू कैडर के अभिषेक प्रतिनियुक्ति पर यूपी आये हैं.

7. मानिकलाल पाटीदार – 2014 बैच के इस IPS अफसर को सरकार ने एसपी महोबा रहते हाल ही में निलंबित किया. मामला भ्रष्टाचार का है. जल्द तैनाती मिलनी मुश्किल.

Related News
1 of 593

8. सुभाष चन्द्र दुबे – 2017 में सहारनपुर में हुए बवाल के बाद 2005 बैच के इस IPS को सस्पेंड कर दिया गया था. फिलहाल आजमगढ़ के डीआईजी हैं.

डॉ. सतीश कुमार लगे रिश्वतखोरी के आरोप

IPS

9. डॉ. सतीश कुमार – बाराबंकी में एसपी रहते हुए इन्हें निलंबित किया गया था. 2013 बैच के इस IPS अफसर पर रिश्वतखोरी के आरोप लगे थे. फिलहाल SP, SDRF हैं.

10. एन कोलांची – बुलंदशहर में एसएसपी रहते इन्हें 2019 में निलंबित किया गया था. कोलांची पर थानाध्यक्षों के तबादले में अनियमितता के आरोप लगे थे. 2008 बैच के ये IPS फिलहाल पीएसी में एसपी हैं.

11. अतुल शर्मा – प्रयागराज के एसएसपी रहते इन्हें निलंबित किया गया था. कानून व्यवस्था के मोर्चे पर नाकामी और भ्रष्टाचार के आरोप थे. 2009 बैच के IPS अतुल फिलहाल PAC में SP हैं.

12. आरएम भारद्वाज – 2018 में संभल में SP रहते इस IPS को तब निलंबित किया गया जब एक महिला को गैंगरैप के बाद जलाकर मार डाला गया था. 2005 बैच के इस IPS की पुलिस मुख्यालय में डीआईजी के पद पर तैनाती है.

13. संतोष कुमार सिंह – 2009 बैच के इस IPS को प्रतापगढ़ में SP रहते सस्पेंड किया गया था. कानून व्यवस्था के मोर्चे पर नाकामी के आरोप थे. फिलहाल SP बुलंदशहर हैं.

14. हिमांशु कुमार – ये पहले IPS हैं जिन्हें योगी सरकार ने निलंबित किया था. एक ट्वीट के कारण इन्हें मार्च 2017 में सस्पेंड किया गया था. 2010 बैच के IPS हिमांशु इन दिनों PAC में SP हैं.

इनमें से कई अफसरों के खिलाफ विभागीय जांच चल रही है. यहां तक कि योगी सरकार ने इनमें से कईयों की संपत्ति की जांच के भी आदेश दिये हैं.

ये भी पढ़ें..बड़ा झटका, IAS से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों तक, वेतन में होगी कटौती!

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर