रंगदारी नहीं मिलने पर खोद डाली 7 किलोमीटर नई सड़क, सीएम योगी ने लिया बड़ा एक्शन

0 170

Shahjahanpur road uprooting case- उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में सड़क उखाड़ने के मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। सीएम योगी के आदेश के बाद पुलिस इस मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। हालांकि मामले का मुख्य आरोपी जगवीर सिंह अब भी फरार है। बता दें कि रंगदारी नहीं देने पर बीजेपी विधायक के गुर्गों ने 7 किलोमीटर नई सड़क को जेसीबी से उखाड़ दिया था। जिसके बाद सीएम योगी ने घटना का संज्ञान लिया और सख्त कार्रवाई के आदेश दिए।

दरअसल, जिले के कटरा विधानसभा क्षेत्र में पुवायां-निगोही-तिलहर, जैतीपुर-दातागंज मार्ग पर राज्य राजमार्ग संख्या 126 का चौड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण का कार्य गोरखपुर की फर्म मेसर्स शकुंतला सिंह द्वारा किया जा रहा है। दो अक्टूबर को कमीशन न मिलने से नाराज होकर खुद को भाजपा विधायक का प्रतिनिधि बताकर जगवीर अपने 15-20 साथियों के साथ जेसीबी मशीन और लाठी-डंडे लेकर पहुंचे।

 

ये भी पढ़ें.. रेवड़ी कल्चर पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, राजस्थान-एमपी और केंद्र सरकार को किया तलब

 

इस दौरान कर्मचारियों से मारपीट की गई और बनखंडी पुलिया से नवादा मोड़ तक करीब 7 किलोमीटर सड़क उखाड़ दी गई। जिसके बाद फर्म के मालिक रमेश सिंह ने जैतीपुर थाने में जगवीर सिंह और उसके 15-20 साथियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मामले में सवाल उठने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी घटना का संज्ञान लिया है। साथ ही सख्त कार्रवाई के निर्देश भी जारी किए। जिसके बाद प्रशासन और पुलिस हरकत में आई।

 

मुख्य आरोपी अभी भी फरार

 

Related News
1 of 1,483

अपर पुलिस अधीक्षक नगर संजीव बाजपेयी ने शनिवार को बताया कि जैतीपुर पुलिस ने इस मामले में कटरा थाना क्षेत्र के रहने वाले पांचू गंगवार और पवन तथा गढ़िया रंगीन थाना क्षेत्र के रहने वाले विनोद, रामबरन और सुरजीत को शुक्रवार रात गिरफ्तार कर लिया। इसके साथ ही पुलिस ने जेसीबी मशीन को भी जब्त कर लिया है। हालांकि, मुख्य आरोपी जगवीर और उसके अन्य साथी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। फिलहाल पुलिस टीम उनकी तलाश में जुटी हुई है।

 

योगी सरकार नुकसान करेगी वसूली

लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता ने सड़क के क्षतिग्रस्त हिस्से की जांच की। अधिशाषी अभियंता ने 10.09 लाख रुपये की क्षति का अनुमान लगाया है, जिसके लिए दोषी व्यक्तियों से क्षतिपूर्ति दिलाने के लिए क्षतिपूर्ति दावा प्राधिकरण लखनऊ को वसूली मांग पत्र भेजा जा रहा है और जिला प्रशासन द्वारा वसूली की कार्रवाई की जा रही है।

 

ये भी पढ़ें..कमल बनकर अब्बास ने युवती को फंसाया, फिर रेप कर बनाया धर्मांतरण का दबाव, विरोध पर श्रद्धा की तरह टूकड़े करने की दी धमकी

ये भी पढ़ें.नम्रता मल्ला की हॉट क्लिप ने बढ़ाया सोशल मीडिया का पारा, बेली डांस कर लूट ली महफिल

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...