चिराग पर तेजस्वी के इस बयान से सियासी हलचल तेज, नीतीश के दो ‘विरोधी’ क्या बनेगे दोस्त?

चिराग पासवान के प्रति पूरे लालू परिवार की सहानुभूति दिखाने के साथ ही बिहार में नयी सियासी की संभावानाएं भी दिखने लगी हैं.

0 208

बिहार में जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे है, वैसे-वैसे सियासी दल जनता को लुभाने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे है. मतदान और चुनाव परिणाम से पहले कई तरह की राजनीतिक संभावानएं भी जन्म लेती दिख रही हैं. RJD नेता और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने लोजपा नेता चिराग पासवान के समर्थन में उतर आए है. वहीं हाल ही चिराग ने भी तेजस्वी को अपना छोटा भाई बता चुके है.

ये भी पढ़ें..बिहार चुनाव 2020: चुनाव से पहले JDU की महिला प्रत्याशी बनी मां

चिराग के समर्थन में उतरे तेजस्वी यादव…

दरअसल तेजस्वी यादव सोमवार को सीएम नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा, चिराग पासवान के साथ नीतीश कुमार ने जो किया वह अच्छा नहीं था. उनको इस समय अपने पिता की जरूरत पहले से कहीं ज्यादा है, लेकिन रामविलास पासवान हमारे बीच नहीं हैं और हम इससे दुखी हैं. जिस तरह से नीतीश कुमार ने व्यवहार किया, वह अन्याय था.

वहीं चिराग के सपोर्ट में तेजस्वी का बयान नीतीश कुमार के दो दुश्मनों के एक होने के रूप में भी देखा जा रहा है. साथ ही तेजस्वी और चिराग की आपसी अंडरस्टैंडिंग को भी दिखाता है. आपस की यह समझ तेजस्वी के निर्वाचन क्षेत्र राघोपुर विधानसभा सीट पर भी दिख रहा है.

तेजस्वी ने बनाई रणनीति
Related News
1 of 1,087

दरअसल चिराग पासवान ने भाजपा के उच्च जाति का वोट काटने के उद्देश्य से वहां राजपूत उम्मीदवार को सीट पर उतारा है, जिससे तेजस्वी यादव को मदद मिलेगी. बता दें कि तेजस्वी यादव के खिलाफ बीजेपी उम्मीदवार सतीश यादव हैं, जिन्हें 2010 में राबड़ी देवी को बड़े अंतर से हराया था. हालांकि 2015 में पिछले चुनाव में भा सतीश यादव तेजस्वी से हार गए थे. यही नहीं चिराग पासवान और नीतीश की तल्खी को और हवा देने की भी तेजस्वी की रणनीति मानी जा रही है.

चिराग के प्रति लालू परिवार ने दिखाई सहानुभूति

यही नहीं पासवान के प्रति पूरे लालू परिवार की सहानुभूति दिखाने के साथ ही बिहार मेंनयी सियासी की संभावानाएं भी दिखने लगी हैं.  खास तौर पर चुनाव बाद त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति अगर आती है तो तेजस्वी की चिराग के लिए ये सहानुभूति कुछ अलग ही गुल खिला सकती है. ऐसी स्थिति पैदा हो गई तो चिराग नीतीश के लिए अपनी अदावत के साथ आगे बढ़ेंगे तो तेजस्वी बिहार के सीएम बन सकते हैं.

जबकि हाल में ही चिराग ने तेजस्वी को अपना छोटा भाई बताया था. ऐसे में माना जा रहा है कि चिराग पासवान भी एक स्पेस तो रखकर ही सियासी कदम आगे बढ़ा रहे हैं.

ये भी पढ़ें..दारोगा जी ने प्रेमिका से थाने में की शादी, एसपी साहब ने दिया आशिर्वाद..

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर