ग्लोबल हैंड वॉशिंग डेः पंचायत अधिकारियों ने ग्रामीणों को करवाया हैंड़वॉश, दिया ये संदेश

15 अक्टूबर को मनाया जाता है ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे

0 59

वैसे तो कुछ भी खाने-पीने से पहले और शौच जाने के बाद हाथों को अच्छी तरह से जरूर धोना चाहिए ( हैंड़वॉश)। जबकि कोरोना काल में तो हाथ धोना और भी जरूरी हो गया है क्योंकि अब तो हर कहीं कोरोना वायरस का खतरा मंडरा रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक डायरिया, आंख व त्वचा संबंधी रोगों से बचाव के लिए भी हाथ धोना बहुत जरूरी होता है।

ये भी पढ़ें..गूगल ने सचिन की बेटी सारा तेंदुलकर को बताया KKR के युवा बल्लेबाज की पत्नी

15 अक्टूबर को मनाया जाता है ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे

दरअसल हर साल 15 अक्टूबर को ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे मनाया जाता है। इस मौके पर गुरुवार को राजधानी के ग्राम पंचायत मलेसे मऊ विकास खंड चिनहट में ग्रामीणों के साथ सामूहिक रूप से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए हैंड़वॉश करवाया गया व मास्क वितरण का आयोजन किया गया था।

इस मौके पर जिला पंचायत राज अधिकारी श्री निरीश चंद साहू व अपर जिला पंचायत राज अधिकारी आद्या प्रसाद जिला समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण श्री अभिनव त्रिवेदी जी व सहायक विकास अधिकारी सचिव ग्राम पंचायत व अन्य ग्रामवासी मौजूद रहे। इस दौरान अधिकारियों ने स्वच्छता का संदेश भी दिया। जिससे कोरोना महामारी को हराया जा सके।

Related News
1 of 596
ग्रामीणों को बताया हाथ धोने का तारीका

इसके अलावा ग्रामीणों को बताया गया कि हाथ धुलने का सही तरीका दो मिनट तक साबुन से छह चरणों में हाथ धोना चाहिए। इसमें सबसे पहले सीधे हाथ पर साबुन लगाकर रगड़ना, उसके बाद उल्टे हाथ, इसके बाद नाखून, फिर अंगूठा, उसके बाद मुट्ठी और अंत में कलाई धोनी चाहिए।

इस तरह से अगर हम अपने हाथों को धोएंगे तो निश्चित रूप से 90 प्रतिशत तक बीमारियों से बच सकते हैं। यह संक्रमण से बचाव का बहुत छोटा मगर प्रभावी कदम है।

ये भी पढ़ें..दारोगा जी ने प्रेमिका से थाने में की शादी, एसपी साहब ने दिया आशिर्वाद..

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर