Naval Museum: लखनऊ में बनेगा देश का पहला नौसेना शौर्य संग्रहालय, CM योगी ने किया भूमि पूजन

0 171

Naval Museum Bhoomi Pujan- उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में देश का पहला नौसेना संग्रहालय बनने जा रहा है। जिसका आज शनिवार को मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ ने सीजी स‍िटी में भूम‍ि पूजन के शौर्य संग्रहालय की आधारशिला रखी। इस मौके पर नौसेना के एडमिरल स्तर के अधिकारी भी मौजूद रहे। इसके अलावा इकाना स्टेडियम के पास बनने वाले नौसेना शौर्य संग्रहालय के भूमिपूजन कार्यक्रम में मुख्य सचिव डीएस मिश्रा, मंत्री जयवीर सिंह, विधायक राजेश्वर सिंह मौजूद रहें।

बता दें क‍ि इस शौर्य संग्रहालय में INS गोमती के टारपीडो मिसाइल और गन प्रदर्शित की जाएगी। इसके अलावा नौसेना की जानकारी देने के लिए डिजिटल इंट्रिपेशन सेंटर भी तैयार होगी। 23 करोड़ की लागत से बनने वाले इस नौसेना शौर्य संग्रहालय के निर्माण से पर्यटन के क्षेत्र में नई विविधिता स्थापित होगी। इससे पर्यटकों की संख्या में इजाफा होगा। जिससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। इस संग्रहालय में नौसेना के युद्धपोत, मिसाइल, कैनन आदि उपकरण रखे जायेंगे। यह वह उपकरण होंगे, जिसका नौसेना अब इस्तेमाल नहीं करती है।

ये भी पढ़ें..Mission Gaganyaan: अंतरिक्ष में ISRO की बड़ी छलांग, गगनयान के क्रू एस्केप मॉड्यूल का किया सफल परीक्षण

लखनऊ से नौसेना का गहरा रिश्ता 

नौसेना की पश्चिमी कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ वाइस एडमिरल दिनेश के त्रिपाठी ने कहा कि लखनऊ और नौसेना का गहरा रिश्ता है। आईएनएस गोमती का नाम लखनऊ से बहने वाली गोमती नदी के नाम पर रखा गया है। इसके शिखर पर छतर मंजिल का प्रतीक सुशोभित होगा। यह तो सभी जानते हैं कि दुनिया का लगभग सारा व्यापार समुद्री मार्ग से होता है। इसलिए देश की समृद्धि के लिए समुद्र एक महत्वपूर्ण कड़ी है।

Naval-Museum-Bhoomi-Pujan

Related News
1 of 1,981

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि पहला पानी का जहाज करीब चार हजार साल पहले गुजरात में बनाया गया था। यह संग्रहालय युवाओं को अग्निपथ के लिए प्रेरणा भी देगा। हमें उम्मीद है कि नई आईएनएस गोमती जल्द ही भारतीय नौसेना में शामिल हो जाएगा।

CM योगी ने कही ये बड़ी बात

नौसेना शौर्य संग्रहालय के भूमि पूजन और शिलान्यास कार्यक्रम में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह भारत के शौर्य और पराक्रम का माध्यम बनेगा। इससे युवा पीढ़ी को भारतीय सेना और उनके शौर्य और पराक्रम के बारे में जानने का मौका मिलेगा। इससे पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत के अभियान को गति मिलेगी। बता दें कि यह संग्रहालय गोमती नदी के किनारे लगभग 37200 वर्ग मीटर क्षेत्र में फैला होगा। यह संग्रहालय गोमतीनगर विस्तार में इकाना स्टेडियम के गेट नंबर 5 के सामने 7 एकड़ जमीन पर बनाया जाएगा।

ये भी पढ़ें..कमल बनकर अब्बास ने युवती को फंसाया, फिर रेप कर बनाया धर्मांतरण का दबाव, विरोध पर श्रद्धा की तरह टूकड़े करने की दी धमकी

ये भी पढ़ें.नम्रता मल्ला की हॉट क्लिप ने बढ़ाया सोशल मीडिया का पारा, बेली डांस कर लूट ली महफिल

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...