मास्क बनाकर ‘‘कोरोना योद्धाओं’’ की मददगार बनीं महिला आरक्षी शालिनी साहू

0 17

बलरामपुरः देश में लॉकडाउन के बाद मास्क की काफी किल्लत हो गई। एक तो मास्क मिल नहीं रहा था और जहां मिल भी रहा था वहां ऊंचे दामों पर बेंचा जा रहा था। ऐसे में कोरोना योद्धाओं को वायरस से बचाने का बीड़ा उठाया कोतवाली देहात की एक महिला आरक्षी (constable ) ने। वहीं सिपाही की मेहनत को देखते हुए एसपी ने भी उसे पुरस्कृत किया है।

दरअसल बलरापुर के थाना कोतवाली देहात में तैनात महिला आरक्षी (constable )शालिनी साहू मेहनत और लगन के साथ अपनी ड्यूटी निभाती हैं। थाने में सुबह 10 से शाम 5 बजे तक जन सुनवाई अधिकारी के रूप में फरियादियों की शिकायतें दर्ज कर उसका निस्तारण करवाने मेें सहयोग करतीं हैं। इसके अलावा शालिनी की एक और काम भी है, वो है जरूरतमंदों के लिए मास्क बनाना। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए देश में पहले लाॅकडाउन की घोषणा हुई।

ये भी पढ़ें..लॉकडाउन ने छिना रोजगार, अब इस तरह परिवार का गुजारा कर रहा दिव्यांग

घोषणा के बाद से ही बाजार में मास्क की किल्लत हो गई। जहां मास्क मिल भी रहा था ऊंचे दामों पर बेंचा जा रहा था। लाॅकडाउन के बाद शालिनी को कोरोना वायरस से बचाव के लिए मास्क की जरूरत महसूस हुई लेकिन जब वे बाजार गई तो उन्हे कहीं भी मास्क नहीं मिला, तब उन्होने मास्क बनाने की ठानी।

प्रभारी निरीक्षक भी हुई प्रभावित

बता दें कि कोतवाली नगर के महिला बैरक में रहने वाली शालिनी ने सिलाई मशीन उठाकर अपने लिए मास्क बनाया। वहीं ड्यूटी पर उसे मास्क लगाता देख थाने के अन्य आरक्षियों ने भी मास्क की मांग की फिर उन्होने प्रभारी निरीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह के कहने पर 24 मार्च को उनके लिए ट्रिपल लेयर मास्क का निर्माण किया।

india

Related News
1 of 65

शालिनी के मास्क की गुणवत्ता को देखकर प्रभारी निरीक्षक प्रभावित हुए और शालिनी को कोतवाली देहात में तैनात सभी आरक्षियों (constable ) व थाने में आने वाले जरूरतमंदों के लिए मास्क बनाने की जिम्मेदारी सौपी। प्रभारी निरीक्षक शालिनी को मास्क बनाने का सामान उपलब्ध करवाते और शालिनी मास्क तैयार कर लोगों में वितरीत करतीं।

करीब 150 मास्क बनाकर किया वितरित

शालिनी ड्यूटी के साथ अब तक करीब 150 मास्क बनाकर निःशुल्क वितरित कर चुकीं हैं। कोतवाली देहात में शालिनी की तैनाती 8 जुलाई 2018 को हुई इससे पहले वो महिला थाना और पुलिस अधीक्षक कार्यालय में तैनात रह चुकीं है। 17 मई 2016 को शालिनी ने पुलिस विभाग में अपनी ज्वाईनिंग की थी। महिला आरक्षी शालिनी साहू ने बताया कि लाकडाउन की वजह से थाने में प्रतिदिन मात्र एक दो की संख्या में ही फरीयादी आते है जिससे उसे खाली समय में मास्क बनाने का वक्त मिल जाता है।

corona

एसपी ने किया सम्मानित

मशीन पर सिलाई का काम वो ड्यूटी के बाद करतीं है और कटाई व लास्टिक लगाने का काम ड्यूटी के साथ-साथ किया जाता है। शालिनी के बनाये मास्क देखने में एन 95 मास्क की तरह ही लगते हैं। सोमवार को थाने का निरीक्षण करने पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक अरविंद मिश्रा ने शालिनी की मेहनत और लगन देखकर उसके काम की तारीफ भी की। मंगलवार को पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने थाने पहुंचकर महिला आरक्षी शालिनी साहू के काम की सराहना की और प्रशस्ति पत्र व नगद पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया।

ये भी पढ़ें..मानवता हुई तार-तार, Police ने गर्भवती महिला से किया दुर्रव्यवहार

(रिपोर्ट- सुजीत कुमार, बलरामपुर)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर