यूपी उपचुनाव: सपा-भाजपा में सीधी टक्कर, BJP की प्रतिष्ठा दांव पर

आठ सीटों में से छह बीजेपी के कब्जे वाली है तो दो पर सपा की...

0 1,160

यूपी की 8 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में एक बार फिर सपा- भाजपा (BJP) में सीधी टक्कर देखने को मिलेगी. वैसे तो पूरी प्रतिष्ठा बीजेपी दांव पर लगी है. क्योंकि इन आठ सीटों में से छह बीजेपी के कब्जे वाली है तो दो पर सपा जीती थी. जबकि बसपा और कांग्रेस के पास खोने को कुछ भी नहीं है, लेकिन दोनों ही दलों को उपचुनाव से उम्मीदें जरूर हैं.

ये भी पढ़ें..25 सितंबर से 46 दिनों के लिए फिर होगा देशव्यापी लॉकडाउन ! जानिए पूरा सच..

अगर इन दोनो दलो को यदि एक भी सीट पर कामयाबी मिलती है, तो 2022 के चुनाव में इसके पास सरकार पर निशाना साधने और अपनी ताकत दिखाने का एक मौका जरुर मिल जाएगा.

इन दो सीटों पर कभी नहीं नहीं खिला कमल

BJP Strategy Against Sp Bsp Congress Alliance For 2019 Election - भाजपा ने  निकाला गठबंधन का तोड़, सपा-बसपा और कांग्रेस को इस तरह देगी जवाब | Patrika  News

दरअसल उपचुनाव में जिन आठ सीटों की बात हो रही है उनमें से दो ऐसी सीटे है जहां अब तक BJP का कमल नहीं खिला है. ये सीटे है रामपुर की स्वार सीट और जौनपुर की मल्हनी.

बता दें कि इस बार रामपुर की स्वार सीट से सपा सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह आजम विधायक बने थे. लेकिन बिर्थ सर्टिफिकेट फर्जीवाड़े में इलाहबाद हाई कोर्ट ने उनकी सदस्यता समाप्त कर दी थी. वहीं 2012 में अस्तित्व में आई जौनपुर की मल्हनी सीट पर अब तक दो बार चुनाव हुए हैं जिसमें समाजवादी पार्टी का परचम लहराया. यह सीट सपा विधायक पारसनाथ यादव के निधन से खाली हुई है.

भाजपा को अपनी सीटें बचाने की चुनौती
Related News
1 of 923

उधर सभी राजनीतिक दल 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले उपचुनाव को सेमिफिनल के तौर पर देख रहे है. BJP के सामने न सिर्फ 2017 में जीती विधानसभा सीटों पर अपना कब्ज़ा बनाए रखने की चुनौती है, बल्कि सपा के कब्जे वाली स्वार और मल्हनी को भी जीतकर लोकप्रियता में बढ़ोतरी का सन्देश भी देना चाहती है.

Other news News : ...तो समय पर नहीं होंगे यूपी पंचायत चुनाव? कोरोना ने  बिगाड़ा परिसीमन का गणित - up panchayat elections 2020 delimitation work  affected due to coronavirus infection | Navbharat ...

जबकि सपा की बात करें तो स्वार और मल्हनी में अपना कब्जा बरकरार रखते हुए भाजपा के कब्जे वाली कुछ सीटों को भी अपनी झोली में डालकर अखिलेश यादव की लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ने के दावे को साबित करना है.

इन सीटों पर होंगे उपचुनाव

बता दें कि 2017 में बीजेपी को छह सीटों पर जीत हासिल हुई थी उनमें से कुलदीप सिंह सेंगर के रेप मामले में उम्र कैद की सजा होने के बाद जेल जाने से खाली हुई उन्नाव की बांगरमऊ, डॉ. एसपी सिंह बघेल के सांसद बन्ने से रिक्त हुई फिरोजाबाद की टूंडला, जनमेजय सिंह के निधन से देवरिया, चेतन चौहान अमरोहा की नौगांव सादात, कमलरानी वरुण कानपुर की घाटमपुर और वीरेंद्र सिंह सिरोही बुलंदशहर सीट शामिल है.

25 सितंबर से 46 दिनों के लिए फिर होगा देशव्यापी लॉकडाउन ! जानिए पूरा सच..

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर