जहरीली हवा से दिल्ली में चार गुना बढ़ा पार्किंग शुल्क

0 19

नई दिल्ली — लगातार प्रदूषण की मार झेल रहे दिल्ली के लोगों को अब चार गुणा पार्किंग शुल्क देना होगा. सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त एनवायरमेंट एंड पॉल्युशन प्रिवेंशन एंड कंट्रोल अथॉरिटी की बैठक में यह फैसला लिया गया है. यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि, लोग प्राइवेट वाहनों का कम से कम इस्तेमाल करें.

बता दें कि पिछले साल की तरह इस साल भी राजधानी दिल्ली धुंध और प्रदूषण की समस्या से जूझ रहा है. दिवाली के बाद से दिल्ली के प्रदूषण स्तर में भारी बढ़ोत्तरी हुई. इसके अलावा ग्रीन पैनल ने यह भी सिफारिश की है कि ऑफ पीक आवर में मेट्रो का किराया कम किया जाए और सड़कों पर कारों की संख्या में कमी लाने के लिए ऑड-ईवेन की योजना वापस लाई जाए.

सीएम केजरीवाल ने स्कूल बंद करने को कहा

Related News
1 of 1,047

वही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से स्कूलों को कुछ दिन तक बंद रखने को कहा है. केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली गैस चैंबर बन गई है. हर साल इस अवधि में ऐसा ही होता है. हमें पड़ोसी राज्यों में फसलों की पराली जलाने के मुद्दे का समाधान निकालना होगा.उन्होंने ट्विटर पर बताया, ‘प्रदूषण के बढ़े हुए स्तर को देखते हुए, मैंने शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से स्कूलों को कुछ दिन तक बंद रखने पर विचार करने का आग्रह किया है.’ सिसोदिया के मुताबिक केजरीवाल ने इन चिंताजनक हालात पर बातचीत करने के लिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन से भी मिलने का समय मांगा है.

मंगलवार सुबह दिल्ली वालों ने प्रदूषण के एक घने कोहरे के बीच आंखें खोली और प्रदूषण का स्तर सामान्य से कई दर्जे अधिक दर्ज किया गया.नमी और प्रदूषणकारी तत्वों के मेल से मंगलवार शाम से शहर पर धुंध की मोटी परत छाने लगी और वायु गुणवत्ता और दृश्यता में तेजी से गिरावट शुरू हो गई. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने सोमवार सुबह 10 बजे तक वायु गुणवत्ता की स्थिति ‘बेहद गंभीर’ दर्ज की जिसका मतलब है कि प्रदूषण बहुत ज्यादा बढ़ गया है.

ईपीसीए ने सड़क निर्माण एजेंसियों को दिल्ली-एनसीआर में धूल प्रदूषण नियमों के उल्लंघन पर 50 हजार रूपए जुर्माना लगाने का निर्देश दिया. इसके अलावा दिल्ली-एनसीआर सरकारों से प्रदूषण बढ़ने पर ऑड ईवन और निर्माण गतिविधियों पर बैन लगाने जैसे उपाय करने को भी कहा गया है. अन्य उपायों में पूरे क्षेत्र में ईंट भट्ठों, हॉट मिक्स प्लांट और स्टोन क्रशर्स को बंद करना शामिल है.

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...