Rain in Delhi: दिल्ली में आफत की बारिश, सड़कें बनी दरिया, VVIP इलाकों में भी घुसा पानी

174

Rain in Delhi: ‘बूंद-बूंद को तरस रही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली मानसून की पहली ही बारिश में पानी-पानी हो गई। दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार देर रात से हो रही बारिश के कारण सड़कें नदियां बन गईं। कई जगहों पर जलभराव हो गया है। वहीं अंडरपास में पानी भर जाने से वाहन फंस गए। यहां तक ​​कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी पानी जमा हो गया। जिससे लोगों को ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ रहा है।

मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, गुरुवार सुबह 8.30 बजे से शुक्रवार सुबह 8.30 बजे तक दिल्ली में 228 मिमी बारिश (Rain) हुई है। यह 1936 के बाद से जून महीने में 24 घंटे में हुई सबसे अधिक बारिश है। यानी 88 साल पहले 28 जून को 235.5 मिमी बारिश हुई थी। दिल्ली में पूरे जून महीने में औसतन 80.6 मिमी बारिश होती है। पिछले 24 घंटों में इससे करीब तीन गुना बारिश होने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है। सुबह ऑफिस और काम पर जाने वाले लोगों को ट्रैफिक जाम और जलभराव का सामना करना पड़ा। हालांकि, दो महीने से जारी भीषण गर्मी से लोगों को राहत जरूर मिली है। शुक्रवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 24.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 3.2 डिग्री कम है।

Rain in Delhi: सड़कें बनी समंदर

पिछले 15 सालों में राष्ट्रीय राजधानी में पूरे जून महीने में कभी भी कुल 200 मिमी बारिश नहीं हुई है। बारिश के कारण आईटीओ पर करीब दो-तीन फीट पानी भर गया है, जिसके कारण वहां जाम लग गया। मंडी हाउस जाने वाले हनुमान मंदिर चौराहे पर तीन फीट पानी भर गया है, जिसके बाद रास्ता बंद कर दिया गया है। इसके कारण अशोक रोड, फिरोजशाह रोड और कनॉट प्लेस जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मूलचंद और दिल्ली के अन्य इलाकों में भी यही हाल है।

मानसून की पहली बारिश ने दिल्ली की मेयर शैली ओबेरॉय के दावों की पोल खोल दी है। उन्होंने कहा था कि इस बार दिल्ली के लोग मानसून का भरपूर आनंद लेंगे। नालों की सफाई का काम पूरा हो चुका है, लेकिन मानसून की पहली बारिश में कई जगहों पर हुए जलभराव ने उनके दावों की पोल खोल दी है। 18 जून को शैली ओबेरॉय ने कहा था कि दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) और उसके अधिकारी मानसून आने से पहले अपनी तैयारियां पूरी करने में जुटे हैं। एमसीडी मेयर ने दावा किया कि इस बार दिल्ली की सड़कों पर न तो पानी जमा होगा और न ही इसकी निकासी में कोई दिक्कत आएगी।

Related News
1 of 1,048

दावे और वादे की खुली पोल

वहीं उत्तर प्रदेश के शो विंडो नोएडा में भी हालात खराब हैं। बारिश (Rain) की वजह से कई इलाकों में जलभराव की समस्या देखने को मिल रही है। लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं जिम्मेदारी अधिकारियों द्वारा किए गए दावे और वादे सब झूठे थे और जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। नोएडा के महामाया फ्लाईओवर सेक्टर-62, सेक्टर-15 समेत कई इलाकों में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

ये भी पढ़ेंः- AFG vs BAN : अफगान लड़ाकों ने रचा इतिहास, बांग्लादेश को हराकर सेमीफाइनल में मारी धमाकेदार एंट्री

ये भी पढ़ें: WI vs SA: वेस्टइंडीज का सपाना हुआ चकनाचूर सपना, 10 साल बाद सेमीफाइनल पहुंचा दक्षिण अफ्रीका

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...