अगर सत्ता में आये तो बुन्देलखण्ड को बनायेंगे अलग राज्य, BSP सुप्रीमो मायावती का बड़ा ऐलान

148

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वह बुंदेलखण्ड क्षेत्र को एक अलग राज्य बनाएगी। उत्तर प्रदेश के झांसी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए बसपा सुप्रीमो ने कहा कि अलग बुंदेलखण्ड राज्य बनाने की मांग की जा रही है। यदि हमारी सरकार (केंद्र में) बनी तो हम इस संबंध में सकारात्मक कदम उठाएंगे।’ बुन्देलखण्ड को अलग राज्य अवश्य बनाया जायेगा।

इन जिलों को जोड़कर बनेगा बुंदेलखंड

दरअसल, बुन्देलखण्ड दक्षिण-पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तरी मध्य प्रदेश के 13 जिलों में फैला एक पहाड़ी क्षेत्र है। उत्तर प्रदेश के 7 जिले – बांदा, महोबा, हमीरपुर, ललितपुर, झाँसी, जालौन और चित्रकूट और मध्य प्रदेश के 6 जिले – दतिया, टीकमगढ़, छतरपुर, सागर, दमोह और पन्ना इस क्षेत्र में आते हैं। बसपा प्रमुख ने यह भी दावा किया कि अगर लोकसभा चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष हुए और ईवीएम से छेड़छाड़ नहीं हुई तो मौजूदा भाजपा नीत राजग के लिए सत्ता में वापसी आसान नहीं होगी।

मायावती ने कहा, ”पिछले कुछ सालों से बीजेपी और उसके सहयोगी देश के ज्यादातर राज्यों में केंद्र की सत्ता में हैं। जातिवादी, पूंजीवादी, संकीर्ण और प्रतिशोधी नीतियों और उनकी कार्यशैली के कारण और उनसे काफी मतभेद के कारण कार्यों और शब्दों से, अब ऐसा लगता है कि केंद्र में सत्ता में लौटना उनके लिए आसान नहीं होगा, बशर्ते ये चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष हों।”

मायावती ने दी चेतावनी

Related News
1 of 1,304

मायावती ने आरोप लगाया कि भाजपा ने अपने अधीन सभी केंद्रीय एजेंसियों का ‘राजनीतिकरण’ कर दिया है, जैसा कि उसकी पूर्ववर्ती कांग्रेस ने किया था। बसपा सुप्रीमो ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं से भाजपा, कांग्रेस और उनके सहयोगियों को केंद्र में सत्ता में आने से रोकने का आग्रह करते हुए कहा, “ओपिनियन पोल और सर्वेक्षणों से गुमराह न हों।” साथ ही ‘साम, दंड और भेद’ की रणनीति से सावधान रहने की चेतावनी भी दी। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने केंद्र की मुफ्त राशन नीति की आलोचना की और कहा कि अकेले गरीबों की समस्याओं का स्थायी समाधान नहीं हो सकता।

मायावती ने आगे कहा, ”आपको जो मुफ्त राशन दिया जा रहा है, वह बीजेपी और आरएसएस अपनी जेब से नहीं दे रहे हैं। यह जनता द्वारा दिए जाने वाले टैक्स से आता है, बीजेपी की कृपा से नहीं और आरएसएस ने लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में इस सीट से रवि प्रकाश को मैदान में उतारा है, जबकि कांग्रेस ने अपने पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन ‘आदित्य’ को टिकट दिया है।

ये भी पढ़ें..कमल बनकर अब्बास ने युवती को फंसाया, फिर रेप कर बनाया धर्मांतरण का दबाव, विरोध पर श्रद्धा की तरह टूकड़े करने की दी धमकी

ये भी पढ़ें.नम्रता मल्ला की हॉट क्लिप ने बढ़ाया सोशल मीडिया का पारा, बेली डांस कर लूट ली महफिल

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...