5 साल तक जीजा की जगह साला करता रहा UP Police की नौकरी, इस तरह खुला राज..!

अनिल कुमार के स्थान पर अनिल सोनी कर रहा था ड्यूटी, ट्रांसफर से खुला राज...

0 1,167

यूपी पुलिस (UP Police) आम जन की सुरक्षा के साथ-साथ प्रदेश में कड़ी कानून व्यवस्था मुहैया करवाने के लिए जाना जाता है. यही कारण है कि यूपी पुलिस हमेशा चर्चा में रहती है. लेकिन महकमें में कुछ ऐसे भी लोग है जो यूपी पुलिस बदनाम करने का एक भी मौका नहीं छोड़ते.

ये भी पढ़ें..BJP नेता की बेटी से हैवानियत, दरिंदरों ने रेप के बाद आंख निकालकर पेड़ से लटकाया शव…

ठीक ऐसा ही चौकाने वाला मामला मुरादाबाद से सामने आया है. यहां के कोतवाली ठाकुरद्वारा इलाके में डायल 112 पर तैनात आरक्षी अनिल कुमार पर आरोप है कि उसने साजिश कर अपने ही सगे साले अनिल सोनी को घर पर ही पुलिस की ट्रेनिंग देकर नौकरी पर भेजना शुरू कर दिया.

नकली अनिल कुमार उर्फ़ अनिल सोनी फरार

वहीं किसी अज्ञात व्यक्ति ने इसकी सूचना पुलिस अधिकारी को दी. जिसके बाद पूरा खुलासा हुआ, फिलहाल पुलिस (UP Police) ने असली भर्ती हुए आरक्षी अनिल कुमार को हिरसत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है, वहीं नकली अनिल कुमार उर्फ़ अनिल सोनी फरार हो गया है.

मिली जानकारी अनुसार उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के खतौली का रहने वाले अनिल कुमार ने 2011 में बरेली से पुलिस भर्ती के दौरान आवेदन किया था, जहां वो ट्रेनिंग के दौरान फेल हो गया था, फिर अनिल कुमार ने 2012 में मेरठ में हुई पुलिस (UP Police) भर्ती में आवेदन किया, लेकिन वहां भी उसे निराश ही हाथ लगी. फिर 2012 नवंबर में तीसरी बार अनिल कुमार ने गोरखपुर में आवेदन किया, जहां उसका चयन आरक्षी के लिये हो गया.

ये भी पढ़ें..एसपी की बड़ी कार्रवाई, इंस्पेक्टर समेत 34 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर, जानें वजह…

UP Police

ट्रेनिंग पूरी कर अनिल कुमार को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाकर पहली बार बरेली जनपद में पोस्टिंग मिली, वहीं अनिल कुमार ड्यूटी पर तैनाती मिली, लेकिन जब अनिल कुमार का तबादला पुलिस नियम के मुताबिक बरेली रेंज से मुरादाबाद रेंज किया गया, तो बस यहां से ही साजिश का खेल शुरू हुआ.

Related News
1 of 625

ट्रांसफर के बाद खुला राज

मुरादाबाद रेंज में तबादला होने के बाद शातिर पुलिसकर्मी अनिल कुमार ने अपने स्थान पर ही अपने सगे साले अनिल सोनी को मुरादाबाद बुलाया और बरेली से जारी अपने प्रस्थान आदेश की कॉपी लेकर मुरादाबाद के पुलिस अधिकारियों के सामने पेश किया. जहां से अनिल कुमार के स्थान पर अनिल सोनी की आमद को दर्ज कर लिया गया, लेकिन भर्ती करने वाले पुलिस अधिकारी ने फोटो का मिलान नहीं किया.

जिसके बाद अनिल कुमार के स्थान पर अनिल सोनी ड्यूटी करने लगा. शातिर अनिल कुमार ने ट्रेनिंग के दौरान जो पुलिस के तरीके थे चाहे वो सरकारी हथियार चलाने के हों या अधिकारियों को सैल्यूट करने के उन सब की ट्रेनिंग अपने सगे साले अनिल सोनी को अपने ही घर पर दे दी.

 सरकारी असलहा भी हुआ जारी

ड्यूटी के दौरान अनिल सोनी को पुलिस लाइन से सरकारी असलहा भी जारी किया गया, जिसमे पिस्टल, कार्बाइन, एसएलआर तक दी गई. फिलहाल मुरादाबाद के पुलिस अधिकारी इस मामले में मुख्य साजिशकर्ता अनिल कुमार को हिरासत में लेने के बाद अब जांच की बात कर रहे हैं और यह भी दावा कर रहे हैं कि अगर विभाग के किसी अन्य पुलिसकर्मी ने भी अनिल कुमार का इस साजिश में साथ दिया है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें..सिपाहियों को पसंद आ रहीं विभागीय दुल्हनियां…

ये भी पढ़ें..15 साल की छात्रा ने स्‍कूल के बाथरूम में 25 लड़को के साथ किया सेक्स, वायरल वीडियो से हुआ खुलासा…

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर