…जब मवेशी तस्कर के आगे बौनी साबित हुई पुलिस

खाकी के दर्जन भर मुलाजिम शामिल

0 11

फतेहपुर: मवेशी तस्करों की एक बार फिर से ब्लैक लाइन शुरू हो गई है। बिहार से शुरू होने वाली इस लाइन में इस बार मवेशी तस्करों ने जिले की खाकी (POLICE) को भी शामिल कर रखा है।

यह भी पढ़ें-फिल्म ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर’ को यूट्यूब से हटाने का निर्देश

कल्यानपुर थाने के दो मलवां थाने के एक समेत एक दर्जन सिपाहियों (POLICE) के नाम शामिल है जो पशु तस्कर के नेटवर्क की अहम कड़ी बने हुए है। सूत्रों की माने तो रात दौरान हाईवे के थानों से गाड़ियां निकाली जा रही और एक सब-इंस्पेक्टर के जरिए हाईवे के थानों को सेट कर रखा गया है। बताया तो यहां तक जाता है कि जिले के एक अधिकारी ने भी इन मवेशी तस्करों को पूरे तरीके से हरी झंडी दे दी है जिससे एक बार फिर से खाकी पर बदुनुमा दाग लगना शुरू हो गया है।

मवेशी तस्कर का नेटवर्क तेजी के साथ शुरू –

Related News
1 of 521

लॉकडाउन 5 के शुरू होते ही प्रयागराज के मांडा के मवेशी तस्कर ने अपना नेटवर्क तेजी के साथ शुरू कर दिया और हाईवे से डीसीएम पिकअप से बकायदा गाड़ियों को और रात्रि दौरान पार कराए जाने का सिलसिला जारी हो गया है। ब्लैक लाइन के नाम से शुरू किए गए इस बड़े खेल में टोल प्लाजा की भी अहम भूमिका है। बताया जाता है कि मवेशी तस्कर ने कौशांबी जिले के करारी सैनी एवं अजूहा को अपना मुख्य केंद्र बना रखा है जहां से इन गाड़ियों का आवागमन शुरू हो जाता है और जिले के हाईवे से इन वाहनों को बड़ी ही आसानी के साथ निकाला जाता है।

थानों की बाकायदा सेटिंग-

सूत्रों की माने तो एक सब इंस्पेक्टर (POLICE) हाईवे के थानों की बाकायदा सेटिंग करवा रखी है और यही वजह है कि रोज करीब आधा सैकड़ा गाड़ियां बिना किसी रोक-टोक के मवेशी तस्कर सभी नियम कायदों की धज्जियां उड़ाते हुए यहां से निकालने में कामयाब होते जा रहे हैं। वहीँ दूसरी तरफ हाईवे की पेट्रोलिंग भी पुलिस की फेल होती जा रही है। पेट्रोलिंग में लगे पुलिसकर्मी मवेशी तस्कर के नेटवर्क में शामिल है और बड़ी ही आसानी के साथ इन गाड़ियों को निकालने में मददगार साबित होते जा रहे हैं। पिछले काफी समय से जिस तरीके से मवेशी तस्करों का नेटवर्क जिले में हावी है उसे खाकी भी अपनी साबित होती जा रही है।

सूत्रों की मानें तो सब इंस्पेक्टर के माध्यम से ही जिले के एक पुलिस (POLICE) के बड़े अधिकारी को भी इस रैकेट में शामिल किया गया है और उसने भी इस काले कारोबार शामिल होकर के मवेशी तस्करों को पूरे तरीके से हरी झंडी देने में कोई भी कोताही नहीं बरती है अब खाकी पर उठ रहे सवालों को लेकर तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है हालांकि इस पूरे मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा ने संज्ञान में लिया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर