ससुरालीजनों ने विवाहिता को पीटा, गर्भस्थ शिशु की मौत

0 10

लखीमपुर खीरी–एक तरफ प्रदेश के मुख्यमंत्री महिलाओं की सुरक्षा हेतु बड़े-बड़े ऐलान करते हैं परंतु दूसरी तरफ उन्हीं की पुलिस उन महिलाओं को थाने से अभद्र भाषा का उपयोग करके धक्का देकर भगाने का कार्य कर रही है.

ऐसा ही मामला थाना गोला गोकर्ण नाथ में हो रहा है. पीड़िता अंजू देवी पुत्री रमेश कुमार ने मीडिया को बताया कि मेरी शादी 10/ 12/ 2018 को आदित्य कुमार कनौजिया पुत्र गया प्रसाद निवासी वोझिया थाना मैलानी के साथ हिंदू रीति रिवाज से हुई थी .परंतु विवाह के चंद दिनों बाद पीड़िता को वह लोग मानसिक व शारीरिक रूप से परेशान करना चालू कर दिए .जब पीड़िता ने पूछा कि आप लोग हमें परेशान क्यों कर रहे हो तो पीड़िता को उसका कारण पता चला कि हमारे माता पिता ने उन्हें कम दान दहेज दिया था पीड़िता ने कहा कि मेरे माता-पिता अपनी हैसियत के अनुसार दान दहेज दिये थे परंतु ससुराल वाले पीड़िता की एक न बात सुनते हुए आदित्य कुमार कनौजिया पुत्र गया प्रसाद (पति) तथा गया प्रसाद ( ससुर) व संदीप कुमार वर्मा ( जेठ) तथा परिवार के अन्य सदस्यों ने पीड़िता को मारा पीटा तथा घर से निकाल दिया.

Related News
1 of 453

तब पीड़िता ने अपने मायके फोन करके अपने पिताजी को बुलवाया और उन्हीं के साथ अपने घर रहने लगी जब उसके पेट में दर्द होना चालू हुआ तो पीड़िता ने अल्ट्रासाउंड करवा कर जानकारी ली तो पता चला कि उसके पेट में लगभग 4 माह का शिशु पल रहा था उसकी मृत्यु हो चुकी है क्योंकि पीड़िता को जब ससुराल वालों ने मिलकर मारा पीटा और पेट पर अधिक चोटे लगने के कारण पेट में पल रहे शिशु की मृत्यु हो गयी. यह सारी घटना प्रार्थना पत्र के माध्यम से थाना गोला में देकर 0 495 क्राइम संख्या पर मुकदमा पंजीकृत कराया तथा समय बीता गया. परंतु पुलिस ने उन अपराधियों को अपनी हिरासत में नहीं लिया जब पीड़िता एक दिन गोला थाने गयी और वहां पर जांच अधिकारी से मिली तो जांच अधिकारी ने राजनेताओं का नाम लेते हुए थाने से पीड़िता को भगा दिया उसके बाद इस बात की शिकायत गोला थाना प्रभारी से की परंतु उसे जवाब मिला कि जब जांच अधिकारी नहीं सुनते हैं तो मैं क्या करूं .

पीड़िता के परिजनों ने मीडिया को बताया कि हमने सभी उच्च अधिकारियों को प्रार्थना पत्र के माध्यम से अवगत करा दिया परंतु मुझे अभी तक न्याय नहीं मिला. अगर न्याय नहीं मिला तो गोला थाने के सामने आत्मदाह करके परिवार सहित आत्महत्या कर लेंगे उसका जिम्मेदार पूरा थाना गोला होगा . जब इस बात की जानकारी पुलिस क्षेत्राधिकारी रविंद्र कुमार वर्मा से ली गयी तो उन्होंने बताया की जांच चल रही है और जल्द ही निस्तारण हेतु विधिक कार्यवाही की जाएगी.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर