शरीर को अंदर से खोखला बना देती है ब्रेड ! रोज खाने से सकती है गंभीर बीमारियां

0 378

इंसान जितने खिलवाड़ अपने शरीर के साथ करता है, उतने शायद ही किसी दूसरे के साथ कर पाए। इंसान का जिंदगी भर साथ देने वाली अगर कोई चीज है तो वह उसका स्वस्थ शरीर। लेकिन लोग अपने शरीर के अंदर खराब खाद्य सामग्री को डालकर उसे विनाश की ओर ले जाता है। white bread

ये भी पढ़ें..14 साल की नौकरानी से मालकिन की दरिंदगी, मेहमानों से जबरन बनवाती थी संबंध, प्रेग्नेंट होने पर खुला राज…

दरअसल भारत समेत दुनियाभर में बहुत से लोग सुबह की शुरुआत व्हाइट ब्रेड (white bread) के साथ ही करते हैं, जो खाने का एक बहुत खराब विकल्प है। अगर आप भी अपनी रोजाना की डाइट में व्हाइट ब्रेड का सेवन करते हैं, तो इसे आज ही छोड़ने का फैसला कर लें। वरना बहुत देर भी हो सकती है। आज हम आपको बताएंगे कि आखिर क्यों व्हाइट ब्रेड (white bread) का सेवन आपको नहीं करना चाहिए।

सफेद ब्रेड

पूरी तरह से हटा दिए जाते है पोषक तत्व

दरअसल सफेद ब्रेड को तैयार करने के लिए गेहूं के आटे का ही उपयोग किया जाता है। लेकिन ब्रेड को बनाते समय इसे बहुत अधिक महीन पीसा जाता है, और इस प्रक्रिया के जरिए सभी विटामिन और पोषक तत्वों को पूरी तरह हटा दिया जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि ब्रेड जैसे उत्पाद को लंबे समय तक ताजा और खाने योग्य रखा जा सके।

यही नहीं ब्रेड (white bread) में इस्तेमाल होने वाले आटे के सभी पोषक तत्व और ऑयल निकालने के बाद ब्लीच किया जाता है। ताकि यह लंबे समय तक खराब हुए बिना चलता रहे। साथ ही इसमें पोटैशियम ब्रोमेट, एज़ोडिकार्बोनामाइड या क्लोरीन डाइऑक्साइड गैस जैसे रसायनों का भी उपयोग किया जाता है ताकि इसके प्राकृतिक पीले रंग को भी हटाया जा सके।

सफेद ब्रेड

ब्रेड खाने से होती ये बीमारियां

इसका परिणाम यह होता है कि जो भी लोग व्हाइट ब्रेड का सेवन करते हैं,उन्हें डायबिटीज, हृदय रोग और मोटापे जैसी समस्या से जूझना पड़ता है। इसके अलावा ब्रेड में मिलाए जाने वाले कई पर्सवेटिव्स भी मिलाए जाते हैं ताकि यह लंबे समय तक ताजी ही रहे।

Related News
1 of 41

व्हाइट ब्रेड का सेवन करने से आप यकीनन मोटापे का शिकार हो सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ब्रेड के निर्माण की प्रक्रिया में ही कई तरह के रसायन, प्रिजर्वेटिव और चीनी का उपयोग किया जाता है।

सफेद ब्रेड

कुल मिलाकर सफेद ब्रेड एक हाईली रिफाइंड उत्पाद है, यह इतनी खतरनाक है कि इसमें मौजूद ग्लाइसेमिक इंडेक्स आपके ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित कर सकता है। यही नहीं सफेद ब्रेड के सेवन से कब्ज, पेट फूलने जैसी समस्याएं भी पैदा होने लगती हैं।

इन ब्रेड का करे सेवन

ब्रेड

अगर आप अपने नाश्ते ब्राउन या होल ग्रेन ब्रेड के बारे में विचार कर सकते हैं। होल ग्रेन ब्रेड के अंदर विटामिन, प्रोटीन, और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जबकि ब्राउन ब्रेड के अंदर आयरन, जिंक, कॉपर और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व शामिल होते हैं। इसके अलावा ब्राउन या होल ग्रेन ब्रेड के अंदर विटामिन बी और कई अन्य खनिज पदार्थ मौजूद होते हैं, जो आपको हृदय रोग, मोटापे और डायबिटीज जैसी बीमारी से बचा कर रखते हैं।

ये भी पढ़ें..गर्लफ्रेंड का था दादा के साथ अफेयर ! जिसे समझता रहा बेटा वो निकला चाचा, ऐसे खुला राज

ये भी पढ़ें..पॉर्न फिल्में देख छोटे भाई से संबंध बनाने लगी 9वीं की छात्रा, प्रेग्नेंट होने पर खुला राज, सदमे में परिजन…

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं…)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर