ब्रेकिंग न्यूज़

एटा -- एक ओर जहाँ निकाय चुनाव को लेकर चुनाव में उतरने वाले प्रत्याशी जीतने के लिए एड़ी- चोटी का ज़ोर लगाने की तैयारी में हैं ;वहीँ इस बार मतदाताओं में कई प्रत्याशियों के काम न करने को लेकर गुस्सा सामने आ रहा है। मतदाताओं का चुनाव के वक्त गुस्सा सामने आना उम्मीदवारों की परेशानी का सबब बन सकता है।

बहराइच -- मोतीपुर रेंज अंतर्गत गुलालपुरवा गांव के निकट स्थित तालाब में सोमवार को दूसरे मगरमच्छ को शिकारियों ने जाल के द्वारा पकड़ लिया।मौके पर पहुंचे वनकर्मियों ने उसे कतर्नियाघाट के गेरुआ नदी में छोड़ दिया। मालूम हो कि एक और मगरमच्छ को चार दिन पूर्व गोपिया के शिकारियों ने जाल में फंसाया था। तालाब में अभी और मगरमच्छ के होने की संभावना है।

पीलीभीत--भारत-नेपाल सीमा से सटे पीलीभीत के थाना हाजरा में नेपाली हाथियों का झुंड और करीब 13 गैंडों के झुंड ने इलाके में जमकर तांडव मचाया. यहां खड़ी गन्ने और धान की फसल को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है.

बता दें कि अक्सर ये हाथी नेपाल की शुक्ला-फांटा और लग्गा-बग्गा से होते हुए सीमा पारकर भारत आते हैं और फसल बर्बाद कर वापस लौट जाते है. फिलहाल इस मामले में जिला लखीमपुर और पीलीभीत टाइगर रिजर्व का वन क्षेत्र शामिल है पर किसानों की इस गंभीर समस्या से निपटने के लिए कोई भी आगे नहीं आ रहा है.

दरअसल पीलीभीत में भारत-नेपात सीमा के पिलर नंबर 24-27 पर एक बार फिर हाथियों व गैंडो के झुंड ने जमकर उत्पात मचाते हुए धान और गन्ने की खड़ी फसल को बर्बाद कर दिया.वही जानकार बताते हैं कि सीमावर्ती इलाको में किये यही से होकर जंगल में जाते हैं.

गौरतलब है कि पीलीभीत के थाना हाजरा का वन क्षेत्र जिला लखीमपुर व टाइगर रिजर्व के बरही रेंज में आता है. यही वजह है की यहां की पुलिस और वन विभाग एक दूसरे पर कार्यवाही की बात कहकर इस मामले से पल्ला झाड़ तेदे हैं. हालांकि वन अधिकारी पटाखे और आग दिखाकर इन हाथियों को वापस भेज देते हैं. मगर इन हाथियों से थाना हाजरा के टाटरगंज और अन्य गांवों के ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है. 

 

एटा -- जिले में इस समय मुन्नाभाई बने फर्जी शिक्षकों पर प्रसाशन का शिकंजा कस रहा है।  इसी कड़ी में एटा में बीएड की फर्जी डिग्री लगाकर 29  शिक्षको को नौकरी करते पकड़ा गया है ,अभी और कई मुन्नाभाई शिक्षकों का खुलासा हो सकता है। इन मुन्नाभाई शिक्षकों की 2005 में तैनाती हुई थी । बीएसए एस.के तिवारी ने अपनी जांच में ये खुलासा किया है ।

बता दे कि भीमराव अंबेडकर विश्व विद्यालय आगरा ने आसपास के जनपदों में 4570 फर्जी बीएड डिग्रियों के सहारे नोकरी करने का दावा किया था,उसी को लेकर जनपद इन फर्जी शिक्षकों की जाँच हो रही है।

रिपोर्ट - आर.बी.द्विवेदी, एटा

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गंगा निर्मलीकरण के लिए 3 दशक तक काम करने के बाद दुनिया को अलविदा कह गए ऑस्ट्रेलिया के पर्यावरणविद कॉल लिनोक्स की आखिरी इच्छा पूरी करने के लिए उनकी जीवन संगिनी सोमवार को काशी पहुंची। बता दें कि इसी वर्ष कैंसर की वजह से लिनोक्स की मौत हो गई थी। लिनोक्स संकटमोचन फाउंडेशन के साथ जुड़कर 1992 में गंगा रिसर्च लैबरेटरी की स्थापना में अहम भूमिका निभानेवाले पर्यावरणविद थे। उनकी अंतिम इच्छा पूरी करने के लिए उनकी पत्नी सू लिनोक्स उनकी अस्थियां लेकर काशी पहुंची है।

कैंसर से जूझते रहने के बाद भी गंगा के प्रति कॉल लिनोक्स का प्रेम अतुलनीय है। निधन से पहले उनकी इच्छा थी कि गंगाजल से आचमन के साथ उनके माथे पर संकटमोचन मंदिर की महावीरी लगाएं। उनकी इच्छा की खबर मिलने के बाद प्रफेसर विश्वंभरनाथ मिश्र ने अपने छोटे भाई प्रफेसर विजयनाथ मिश्र के हाथों गंगाकलश और महावीरी सिडनी भेजने का फैसला किया। वह दिल्ली पहुंचे ही थे कि उनके निधन की खबर मिल गई लेकिन वह इसको लेकर वहां पहुंचे। काशी में गंगा को साफ करने के लिए आईआईटी बीएचयू के प्रफेसर वीरभद्र मिश्र ने तुलसीघाट पर गंगा रिसर्च लैबरेटरी की स्थापना के लिए दुनियाभर के पर्यावरणविदों से जो मदद मांगी थी,उसमें पहला कदम कॉल लिनोक्स ने ही बढ़ाया था। स्वच्छ गंगा रिसर्च लैबरेटरी की स्थापना के साथ सराय मोहाना के पास सीवर के चलते भूजल दूषित होने से पेयजल संकट से जूझ रहे लोगों को शुद्ध पेयजल की स्थापना के लिए पानी टंकी के निर्माण में भी 2006 में अहम योगदान किया था। 

मथुरा--विकास खण्ड मांट के सीडीपीओ  नीरज कुमार को उत्तर प्रदेश शासन आगरा की एंटी करप्शन टीम ने आंगनवाड़ी महिला के पति से 10 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। जो कि आंगनबाड़ी सहायिका को बर्खास्तगी का डर दिखाकर पैसे की माँग कर रहा था। 

बताते चलें कि मांट और नोहझील ब्लाक के सीडीपीओ नीरज कुमार सिंह  आंगनबाड़ी सहायिका मिथलेश देवी को बर्खास्त  करने की धमकी देकर 10 हजार रूपये मांग रहा था । आंगनबाड़ी सहायिका ने ये बात  अपने घरवालों को बताई फिर उसके बाद एंटी करप्शन टीम आगरा से संपर्क साधा गया ।जिस पर टीम का एक सदस्य स्वयं  सीडीपीओ को रिश्वत देने के लिए पहुंचा और उसे रंगे हाथ पकड़ लिया।

रिपोर्ट-सुरेश सैनी,मथुरा

 

 

इटावा -- उत्तर प्रदेश के इटावा में विधूना मार्ग पर लाश रखकर ग्रामीणों ने जाम लगाकर जमकर प्रदर्शन किया.वहीं  पुलिस द्वारा जबरन जाम खुलवाने से आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस के ऊपर भी पथराव शुरु कर दिया.इस दौरान पुलिस को भीड़ पर काबू पाने के लिए हवाई फायरिंग करनी़ पड़ी.

दरअसल मामला दस दिन पहले का है जहां किक्रेट मैच को लेकर दो पक्षों में  जमकर लाठी डंड़े चले जिसमें कई लोगो को चोटे आई जिसमे से एक युवक को गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहीं इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.बताया जा रहा  है कि  इसी से नाराज ग्रामीण आज विधूना मार्ग पर शव रखकर प्रदर्शन कर रहें थे.इस दौरान पुलिस और ग्रामीणों में झड़प हो गई इस बीच गांव वालो ने पथराव शुरु कर दिया.वहीं ग्रामीणों को उग्र होता देख पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी.

रिपोर्टर-विवेक दुबे,इटावा

 

लखनऊ --राजधानी के आलमबाग थाना क्षेत्र के मवईया मोहल्ले में बेखौफ चोरों ने बंद पड़े मकान का ताला तोड़कर  अलमारी में रखी नगदी समेेत जेवरात पर हाथ साफ कर फरार हो गए । घर वापस आई पीड़िता को चोरी की जानकारी हुई तो स्थानीय थाने में जाकर पड़ोसी के  किराएदार के खिलाफ नामजद तहरीर दी । मुकदमा पंजीकृत कर पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है ।

मकान संख्या 281/154क मवईया , आलमबाग में रहने वाली अनुराधा मिश्रा पत्नी अरूण मिश्रा बीते 25 अक्टूबर को अपने घर में ताला बद कर  अपने पूरे परिवार के साथ  छठ पूजा के पर्व में शामिल होने अपने पैतृक गांव सुरदही थाना सहजनवां गोरखपुर गई हुई थी । 28 अक्टूबर रात को जब वह अपने गांव से लखनऊ लौटी तो घर का ताला टूटा हुआ और  सामान अस्त व्यस्त मिला ।

कमरे में रखी आलमारी का लाकर तोड़  नगदी समेत सोने की अंगूठी, कान के टप्स , चांदी के पायल  आदि जेवरात चोर उड़ा ले गए । संदेह के आधार पर पीड़िता ने पड़ोसी अब्दुल कादिर के घर में रह रहे किराएदार शातिर चोर  कल्लू पर संदेह के आधार पर चोरी का आरोप लगाते हुए आलमबाग थाने में नामजद तहरीर दी है । मूकदमा पंजीकृत कर पुलिस मामले की जांच में जुटी है । 

रिपोर्ट-अंशुमान दुबे,लखनऊ

इटावाः खनन और ओवरलोड को लेकर एआरटीओ इटावा की बड़ी कार्यवाही से उस वक्त हड़कंप मच गया ; जब दो दर्जन से अधिक ट्रकों , डम्फरों को सीज कर दिया गया। ये जबरदस्त कार्यवाही सिविल लाइन, कोतवाली ओर बढ़पुरा में हुई है। इलाके में सुबह 4 बजे से चलाए गए अभियान में दो दर्जन से अधिक ट्रक, डंफरो को ओवर लोडिंग के चलते सीज कर दिया गया। बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश के खनन माफिया खनन से जुड़ी हुई गाड़िया दबाब में निकलवाते है। सभी खनन माफिया कार्यवाही के बाद एआरटीओ विभाग के अफसरों के आगे पीछे घूम रहे है। 

रिपोर्ट - विवेक ,इटावा