ब्रेकिंग न्यूज़

भारत में दो बच्चों का कानून लागू किये जाने को लेकर आंदोलन शुरु !

प्रदेश
Typography

मेरठ -- धारा 370 , 35a हटने और तीन तलाक पर कानून बनने के बाद अब देशवासियों को सरकार से और भी अपेक्षाएं हो गई है।

मेरठ -- धारा 370 , 35a हटने और तीन तलाक पर कानून बनने के बाद अब देशवासियों को सरकार से और भी अपेक्षाएं हो गई है।

सबसे पहले जनता की मांग है कि देश में जनसंख्या नियंत्रण पर भी कानून बनाकर देश में दो बच्चों का कानून लागू किया जाए। इस आंदोलन की शुरुआत क्रांति धरा मेरठ से की जा रही है।

दरअसल जनसंख्या समाधान फाउंडेशन क्रांति धरा मेरठ से इस आंदोलन की शुरुआत करते हुए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 14 जिलों के 6 हजार गांव में जनसंपर्क करते हुए अपने आंदोलन को मजबूती दे रहे हैं। जनसंख्या नियंत्रण फाउंडेशन की नींव 5 साल पहले कश्मीर से विस्थापित ममता सहगल द्वारा रखी गई थी। ममता सहगल का कहना है कि धारा 370 और 35a हटाना सरकार का बड़ा फैसला है, क्योंकि 15 अगस्त 1947 की आजादी के बाद ये 5 अगस्त 2019 के दिन लोगों को दूसरी आजादी मिली है।

उन्होंने धारा 370 हटाने से पहले कश्मीर में अपने साथ हुए अत्याचारों का दर्द जब लाइव टुडे पर शेयर किया तो जो कुछ उन्होंने बताया शायद वह सब सुनकर आपकी भी आंखों में पानी आ जाए और वह मंजर सुनकर आप की भी रूह कांप उठे।

ममता का कहना है कि जनसंख्या के असंतुलित होने के कारण कश्मीर में कश्मीरी ब्राह्मण और हिंदुओं पर इतने अत्याचार किए गए की उनको कश्मीर छोड़ना पड़ा और यदि इसी तरीके से उत्तर प्रदेश और विशेषकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जनसंख्या का संतुलन बिगड़ता गया तो यहां पर भी वही स्थिति हो जाएगी। उन्होंने कहा कि समुदाय विशेष अभी भी 8-8 बच्चों के परिवार को लेकर सरकार की नीतियों को पलीता लगा रहे हैं।

130 करोड़ से 155 करोड़ पहुंची जनसंख्या...

जनसंख्या नियंत्रण फाउंडेशन की सरकार से मांग है कि जिस तरह तीन तलाक कानून और धारा 370 को हटाकर जनता में विश्वास कायम किया उसी के अनुरूप जनसंख्या नियंत्रण पर भी कानून बनाया जाए। फाउंडेशन की मांग है कि जिनके दो बच्चों से ज्यादा हो उनकी सरकारी सुविधाएं बंद की जाए। क्योंकि अगर गैर अनुमानित आंकड़ा देखा जाए तो जनसंख्या 130 करोड़ पार करने के बाद अब 155 करोड़ के आसपास है। अगर इस तरह जनसंख्या बढ़ती रही तो जमीन, जल और जीवन सब कुछ खतरे में पड़ जाएगा।

जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग को लेकर 11 अक्टूबर को क्रांति धरा मेरठ से एक लाख से अधिक लोग पदयात्रा के जरिए दिल्ली कूच करेंगे और जंतर-मंतर पहुंचकर 13 तारीख को सरकार को ज्ञापन देंगे।

(रिपोर्ट-प्रदीप शर्मा,मेरठ)

Pin It