ब्रेकिंग न्यूज़

महिला जाति का अपमान करने पर माफी मांगे आजम खांःप्रसपा

राजनीति
Typography

सोनभद्र -- मुझे यह कहने में कत्तई गुरेज नही है कि महिलाओं के  सम्मान की बात करने वाले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मंच पर मौजूद है इसके बावजूद भी उनके सामने इस तरह का बयान देना ओछी मानसिकता का परिचय नजर आता है ।

सोनभद्र -- मुझे यह कहने में कत्तई गुरेज नही है कि महिलाओं के  सम्मान की बात करने वाले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मंच पर मौजूद है इसके बावजूद भी उनके सामने इस तरह का बयान देना ओछी मानसिकता का परिचय नजर आता है ।

उक्त बातें प्रदेश की आखिरी लोकसभा सीट 80 रावर्ट्सगंज (सुरक्षित) से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया की महिला प्रत्याशी पूर्व विधायक रूबी प्रसाद ने आजम खां के बयान पर कहा कि मैं जनप्रतिनिधि हूँ यह बड़े दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि एक वरिष्ठ समाजवादी पार्टी के नेता इस तरह से एक महिला के लिए बोलना अभद्र भाषा का प्रयोग करना बहुत बड़ी शर्मनाक घटना है यह हम सभी महिलाओं के लिए अपमान जनक शब्द है। वह वरिष्ठ समाजवादी पार्टी के नेता है उन्हें महिलाओ से माफी माँगना चाहिए क्योंकि यह एक महिला का अपमान नही है बल्कि सम्पूर्ण महिला जाति का अपमान है।

सोनभद्र में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया की तफर से रावर्ट्सगंज लोकसभा सुरक्षित सीट से घोषित प्रत्यासी दुद्धी विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी की पूर्व विधायक रूबी प्रसाद ने रामपुर लोकसभा सीट से प्रत्यासी व  समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां द्वारा भाजपा की प्रत्यासी जयाप्रदा पर दिए गए बयान पर कहा कि यह समाजवादी पार्टी की ओछी मानसिकता का परिचय है। इसके साथ ही कहा कि अगर समाजवादी पार्टी महिलाओ के सम्मान की बात करती तो गोण्डा के प्रत्यासी इस तरह महिलाओ के  सार्वजनिक बयान नही करते। 

समाजवादी पार्टी की पूर्व विधायक व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की प्रत्यासी रूबी प्रसाद ने कहा कि बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि एक वरिष्ठ समाजवादी पार्टी के नेता मंच पे इस तरह एक महिला के लिए बोलना अभद्र भाषा का प्रयोग करना बहुत ही शर्मनाक घटना है यह हम सभी महिलाओ के लिए अपमान जनक शब्द है। यह वरिष्ठ समाजवादी नेता है इन्हें महिलाओ से माफी मांगनी चाहिए क्योकी यह एक महिला का अपमान नही है बल्कि सम्पूर्ण महिला जाति का अपमान है। यह किस तरह मानसिकता का परिचय है क्योंकि महिलाएं किसी क्षेत्र में पीछे नही है ।इस तरह का सार्वजनिक बयान देना समाजवादी नेता का शर्मनाक घटना है महिलाओ से माफी मांगे। 

 इसके साथ ही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मंच पर मौजूदगी में जो महिलाओ के सम्मान की बात करते है इसके बावजूद भी उनके सामने इस तरह का बयान देना ओछी मानसिकता का परिचय नजर आता है।  वही प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव द्वारा फिरोजाबाद की एक जनसभा में घर घर तक साइकिल चुनाव चिन्ह पहुचाने के बयान पर कहा कि यह सिर्फ सीलिप ऑफ टँग है क्योंकि शिवपाल यादव एक सच्चे समाजवादी नेता है वह समाजवादी पार्टी के फाउंडर मेम्बर रहे है इसलिए यहां सीलिप ऑफ टँग हो गया होगा।

(रिपोर्ट-रविदेव पाण्डेय,सोनभद्र)

Pin It