ब्रेकिंग न्यूज़

अली-बजरंग बली विवाद में मायावती भी कूदीं

राजनीति
Typography

लखनऊ--उत्‍तर प्रदेश के लोकसभा चुनाव में 'अली' और 'बजरंग बली' पर राजनीतिक घमासान और तेज हो गया है। यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, समाजवादी पार्टी के फायर ब्रैंड नेता आजम खान के बाद अब मायावती भी इस विवाद में कूद पड़ी हैं। 

लखनऊ--उत्‍तर प्रदेश के लोकसभा चुनाव में 'अली' और 'बजरंग बली' पर राजनीतिक घमासान और तेज हो गया है। यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, समाजवादी पार्टी के फायर ब्रैंड नेता आजम खान के बाद अब मायावती भी इस विवाद में कूद पड़ी हैं। 

उधर, चुनाव आयोग को दिए अपने जवाब में सीएम योगी ने अपनी सफाई दी है। अपने जवाब में सीएम योगी ने कहा कि उनकी गलत मंशा नहीं थी और वह अब अपने बयानों में सतर्कता बरतेंगे। मायावती ने शनिवार को रामनवमी पर दिए अपने संदेश में कहा, 'रामनवमी की देश और प्रदेशवासियों को बधाई व शुभकामनाएं तथा उनके जीवन में सुख और शान्ति की कुदरत से प्रार्थना। ऐसे समय में जब लोग श्रीराम के आदर्शों का स्मरण कर रहे हैं, तब चुनावी स्वार्थ हेतु बजरंग बली और अली का विवाद तथा टकराव पैदा करने वाली सत्ताधारी ताकतों से सावधान रहना है।' मायावती का इशारा योगी आदित्‍यनाथ के बयान की ओर था। 

Pin It