ब्रेकिंग न्यूज़

रक्षक ही बने भक्षक, दो दरोगाओं पर लगा यौन शोषण का आरोप

अपराध
Typography

एटा--खाकी अपने किसी न किसी कारनामे से हमेशा सुर्खियों में बनी रहती है। यदि रक्षक ही भक्षक बन जाये तो इससे बड़ी त्रासदी भला और क्या हो सकती है। ताजा मामला एक बार फिर एटा में सामनें आया है जहॉं खाकी फिर शर्मसार हुई है। 

एटा--खाकी अपने किसी न किसी कारनामे से हमेशा सुर्खियों में बनी रहती है। यदि रक्षक ही भक्षक बन जाये तो इससे बड़ी त्रासदी भला और क्या हो सकती है। ताजा मामला एक बार फिर एटा में सामनें आया है जहॉं खाकी फिर शर्मसार हुई है। 

अवागढ़ क्षेत्र की रहने वाली महिला को उसके पति का परिवार में हुए झगड़े के बाद वारंट जारी हो गया था। बताया जा रहा है कि अवागढ़ कोतवाली में तैनात दरोगा योगेश कुमार ने वारंट जारी पर पति की गिरफ्तारी का भय दिखाकर महिला को अपने झांसे में ले लिया और फिर फोन कर अपने कमरे पर महिला से पिछले 5 माह से लगातार उसका यौन शोषण कर रहा था। इस मामले में उसका साथी दरोगा प्रेम गौतम भी शामिल था और दोनों ने मिलकर महिला के साथ लगातार उसका यौन शोषण किया। पीड़ित महिला तीन माह की गर्भवती है और दिल्ली से पति के आने के बाद उसने जब पूरी बात पति को बताई तो वो सन्न रह गया और पीड़ित पत्नी को लेकर पुलिस के आला अधिकारियों से मामले की शिकायत की।

बताया जा रहा है कि पीड़िता का पति दिल्ली में काम करता है और परिवार में हुई मारपीट के मामले में वारंट जारी होने का भय दिखाकर पीड़िता के साथ पिछले 5 माह से ये दोनों दरोगा महिला का लगातार यौन शोषण कर रहे थे। पीड़िता का आरोप है कि उसके पेट में 3 माह से आरोपी दरोगा योगेश तिवारी का गर्भ पल रहा है।

पीड़िता और आरोपी दरोगा के बीच हुयी बातचीत का ऑडियो भी वायरल हुआ है। मामले में पुलिस के उच्चाधिकारियों से शिकायत की बात पर आरोपी दोनों दरोगा पीड़िता को धमका रहे है। पति के साथ एस एस पी कार्यालय पहुंच कर महिला ने पूरे मामले की शिकायत ए एस पी से की जिसके बाद ए एस पी संजय कुमार ने पूरे मामले की जांच सीओ जलेसर को सौपी है।

पीड़िता का आरोप है कि जब उसने मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से करने की बात कही तो अवागढ़ कोतवाली में तैनात दरोगा योगेश शर्मा और प्रेम गौतम उसे लगातर धमकी दे रहे है। पीड़िता का आरोप है कि दोनों ने उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया है जिसके चलते वो लगातार उसका यौन शोषण करते रहे। पूरे मामले में पीड़िता अपने पति के साथ एस एस पी कार्यालय पहुंची और आरोपी दरोगाओं के खिलाफ लिखित तहरीर दी जिसके बाद पूरे मामला अधिकारियों के संज्ञान मे आने के बाद पुलिस महकमें में हड़कंप मचा हुआ है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एएसपी संजय कुमार ने मामले की जांच सीओ जलेसर गुरमीत सिंह को सौंपी है और जांच कर तत्काल कार्यवाई की बात कही है।

(रिपोर्ट-आर.बी.द्विवेदी, एटा)

Pin It